तू दुखी न हो, मैं तेरे पास हूँ
मैं आ रहा हूँ मेरी 'जानेमन'

तेरे दिल की बात मैंने सुन ली है
बस ज़रा सा रुक मेरी 'जानेमन'

तू ठहर ज़रा उसी छाँव में
हम मिले थे जहाँ, जिस गाँव में

न परेशान हो, न हैरान हो
मैं आ रहा हूँ मेरी 'जानेमन'

तू सुन ज़रा मेरे मन की बात
जब कहा था मैंने मैं हूँ तेरे साथ

न निराश हो, न हताश हो
मैं आ रहा हूँ मेरी 'जानेमन'

तेरे प्यार की उम्मीद है
तेरी रूह का अहसास है

तू ज़रा ठहर, ज़रा सब्र कर
मैं आ रहा हूँ मेरी 'जानेमन'

है मुझे कसम तेरे प्यार की
है फ़िक़र तेरे इंतज़ार की

तुझे है सदा ऐ मेरे सनम
मैं आ रहा हूँ मेरी 'जानेमन'

4 प्रतिक्रियाएँ:

kshama ने कहा…

Kitna pyara sandesh hai yah apni priytama ke liye!

Udan Tashtari ने कहा…

बढ़िया है...

Ram Krishna Gautam ने कहा…

⎝⏠⏝⏠⎠ Aap Dono ka Shukriya...

बेचैन आत्मा ने कहा…

..प्यारी नज़्म.

Feeds

Related Posts with Thumbnails