• मेरी दुआ है फूलों-सी तू खिले
    जैसी तू है तुझे वैसा ही एक हसीन जीवन साथी मिले
  • हर नई सुबह लाए तेरे लिए किरणें तेरी ख़ुशी की
    तू रहे जहाँ वहाँ रहे सदा मीठी गूँज हँसी की
  • हो तकदीर से तुझे शिकवे-गिले
    मेरी दुआ है फूलों-सी तू खिले
  • हम अगर कभी दूर भी हुए यह दिन याद रहेगा
    ख़ुशनसीब है जिस को दिल तेरा अपना मीत कहेगा
  • बनते रहे सदा जीने के सिलसिले
    मेरी दुआ है फूलों-सी तू खिले


» रचनाकार: गुलशन गुलशन बावरा

1 प्रतिक्रियाएँ:

kshama ने कहा…

sundar rachanase ru-b-ru karaya!

Feeds

Related Posts with Thumbnails