कहने को तो बहुत हैं मेरे अपनों में,
पर कोई हो जिसे अपना कहते ही गुरूर आ जाए
तो क्या बात हो..!

सुना है इश्क में तेज़ हो जाती है दिल की धडकनें,

पर कोई जो खुद ऐसी धड़कन बन जाए
तो क्या बात हो..!

चाहते हैं सब सात जन्मों का प्यार,

पर ये एहसास कोई एक जनम में दे जाए
तो क्या बात हो..!

अक्सर चेहरे के आंसुओं को अनदेखा कर देते हैं लोग,

पर कोई इन आंसुओं को बारिश की बूंदों में पहचान जाए 
तो क्या बात हो..!

यूँ तो तन्हाई में याद किया करते हैं किसी को,

पर किसी की याद भरी महफ़िल में तन्हां कर जाए
तो क्या बात हो..!

ख़ुदकुशी कर लेते हैं कई जुदाई के ग़म में,

पर कोई जीने की वज़ह बन जाए
तो क्या बात हो..!

बड़े शायरों की कलाम पर तो सभी देते हैं दाद,

नाचीज़ की इस पेशकश पर अगर आपकी वाह-वाही मिल जाए
तो क्या बात हो..!!

0 प्रतिक्रियाएँ:

Feeds

Related Posts with Thumbnails